Spread the love

हम पहले छह महीने तक शिशुओं के लिए विशेष रूप से स्तनपान  में विश्वास करते हैं, बाद में ठोस खाने का  परिचय कराते हैं और कम से कम एक वर्ष तक स्तनपान जारी रखते हैं।

chaval ka daliya shishu ahar Rice Porridge for Babies

क्यों चावल को पहला शिशु अनाज मानते है ?

चावल अनाज के कम एलर्जिक गुणों के कारण और आसानी से पचने योग्य प्रकृति के कारण प्रथम भोजन के रूप में इस्तेमाल  किया गया है। चावल अनाज में आयरन की मात्रा ज्यादा होता है , इसीलिए इसे पहला ठोस आहार के रूप में दिया जाता है  ।

चावल की विभिन्न प्रकार:

पूरे अनाज को चावल के रूप में लाने की प्रक्रिया बहुत ज्यादा नहीं है, इसलिए यह पौष्टिक मूल्य में उच्च है और यही कारण है कि हम चावल अनाज की तैयारी के लिए उबले हुए  का उपयोग करना पसंद करते हैं।

विशेष सुझाव:

  • भूरा चावल और सफेद चावल के बजाय लाल चावल के रूप में मिलता है , यह अलग स्वाद और प्राकृतिक रंग से  पोषण  भी ज्यादा देता है ।
  • चावल अनाज से  बच्चों को  दूध पाउडर  देना कम कर सकता  है।

चावल पकाने के लिए हम इनका  उपयोग कर सकते हैं:

  • पानी
  • स्तन का दूध
  • गाय दूध (एक वर्ष से ऊपर के बच्चों के लिए)
  • दूध पाउडर

एक  वर्ष से ऊपर के बच्चों के लिए हम दूध के साथ चावल क़ो पकाने का सुझाव देते हैं, बाद में सूखे फलों के पाउडर, दालचीनी पाउडर, इलायची पाउडर, लौंग पाउडर, केसर नई स्वाद के लिए मिला सकते हैं।  आजकल बच्चे चुनिंदा खाना खाते है और हर मां इसे बनाने में  प्राकृतिक रूपों और नैसर्गिक रंग को साथ करने की कोशिश  करतीं  है  जो  शरारती बच्चो  को  पसंद आता है।  इसे रोचक बनाने के लिए फल, पुरी, मसला हुआ केले, गाजर रस, और अन्य रचनात्मक स्पर्श का उपयोग कर सकते है ; बच्चों को ये भोजन को जल्दी खत्म करने के लिए और  आकर्षित करने के लिए स्वाद और रंगीन दृष्टिकोण जोड़ देता है।

शिशुओं के लिए घर का चावल अनाज


Hindi Subscribe Button TOTS AND MOMS

चावल का सेरेलाक

बच्चों के लिए चावल अनाज पहला भोजन है , जिसे 6 महीने के उम्र के शिशिओ और बच्चो को दे सकते है। आयरन की मात्रा ज्यादा होता है

लेखक:(English) Kavitha Prashanth
पकाने की विधि: (English) First Food
भोजन:(English) Indian

सामग्री

सामग्री

  • चावल  के लिए:
  • बराबर उबला हुआ चावल Par Boiled Rice - 1 कप

पोर्रिज/ दलिया  के लिए:

  • चावल  - 2 बड़े चम्मच
  • पानी / दूध - 1 कप
  • घी (चाहे तो  ) 

बनाने का तरीका

बनाने का तरीका:

  • पानी में पहले एक साफ कटोरे में बराबर उबला हुआ चावल / लाल चावल का प्याला लें, , निचोड़ लें और दो बार धो लें।
  • ध्यान  रखे   चावल से  तुरंत सार पानी निकाल ले  चावल ज्यादा पानी में भिगोये
  • चावल के बनावट के आधार पर चावल को बर्तन में  सूखे भुने  , रंग  बदल ने तक  और 10-15 मिनट के लिए फूला हुआ हो जाता है।
  • एक साफ मिक्सर जार लें और ठंडा भुना हुआ चावल अच्छी तरह पीस लें।
  • एक एयर-टाइट  कंटेनर में पाउडर को संग्रह  करें और आवश्यक होने पर उपयोग करें|

चावल का दलिया बनाने के लिए :

  • एक कप पानी ले और 2 टेस्पून चावल अनाज पाउडर गांठ रहित मिलाये  
  • एक बार मिश्रित गांठ मुक्त  होने पर कम से कम धीमी आँच  पे पकाए  , जब तक यह गाढ़ा हो।
  • ठंडा होने पर यह बहुत गाढ़ा हो सकती है, इसलिए आवश्यक स्थिरता की जांच करें।
  • शिशुओं के लिए घर में बना चावल  का उपयोग करते हुए सुरक्षित स्वादिष्ट दलिया है |
  • घर का चावल का दलिया एक बार ठंडा होने खिला सखते है

 

घर में बनाया हुवा चावल का दलिया।

एक कप पानी ले और 2 टीस्पून चावल अनाज पाउडर गांठ रहित मिलाये  । मिश्रण गांठ मुक्त  होने पर उसे कम से कम धीमी आँच  पर गाढा होने तक पकाए । एक बार ठंडा होने पर यह बहुत गाढ़ा हो सकती है, इसलिए आंच  कि स्थिरता को बनाये रखे।

शिशुओं के लिए घर में बना चावल  का उपयोग करते हुए

घर का चावल का दलिया ठंडा होने पर खिलाने के लिए तैयार कहा जा सकता है ।

 चावल  के स्वास्थ्य लाभ:

  • तेज और त्वरित ताकत  प्रदान करता है ।
  • आंत्र आंदोलनों को विनियमित करने और सुधार करने में मदद करता है ।
  • रक्त शर्करा के स्तर को स्थिर करता है ।
  • ग्लूटेन मुक्त है ।
  • उम्र बढ़ने की प्रक्रिया धीमा कर देती है।
  • विटामिन बी 1 का आवश्यक मात्रा  प्रदान करता है ।
  • त्वचा स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है ।
  • चयापचय में वृद्धि, और पाचन में सहायक होता है ।
  • रोग निरोधक शक्ति बढ़ाता है ।

chaval ka daliya shishu ahar Rice Porridge for Babies

 


Spread the love